Hooka Or Kaamin

लगा के मेरे होठो से होठ
वा बैरण बोली…
.
.
.
कमीण आज भी होक्का पी
कै आरया ह