ज तु मेरी नहीं

इतणा बुरा तो पहले करया ढोंग क्यु
ज म तेरा ए सुं तो इब मॊन क्यु
ज म तेरा नही तो मेरी निन्दा क्यु
ज तु मेरी नहीं तो म जिन्दा क्यु ॥