जै कागज पे लिख दूँ

जै कागज पे लिख दूँ तारीफ तेरी,
तो स्याही भी तेरे हुस्न की गुलाम हो जावैगी